19th July 2024

एक दर्जन से अधिक मुकदमे फिर भी निकला बदमाश रेकी करने, चेकिंग के दौरान हुई मुठभेड़ में थाना प्रभारी ध्रुव भूषण दूबे ने बदमाश को ठोकासेक्टर 24 थाना प्रभारी ध्रुव भूषण दूबे के द्वारा पकड़ा गया सीमेंट से भरा चोरी हुआ ट्रैक्टर, 24 घंटे में किया चोरी की घटना का खुलासासेक्टर 24 थाना प्रभारी ध्रुव भूषण दूबे ने दिनदहाड़े 17 मुकदमे वाले बदमाश को चेकिंग के दौरान मुठभेड़ में ठोकायूट्यूब पर विज्ञापन चला कर बेरोजगार युवकों को रोजगार देने के नाम पर लाखो की ठगी करने वाला गैंग चढ़ा पुलिस के हत्थे,थाना सेक्टर 24 प्रभारी ध्रुव भूषण दूबे ने चेकिंग के दौरान बदमाश को रोका तो पुलिस पर किया फायर,जवाबी कार्यवाही में पुलिस ने ठोका
उत्तर प्रदेश

कांवड़ यात्रा को लेकर 22 जुलाई से भारी, 27 से हलके वाहनों के लिए बंद हो जाएगा दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे

रिपोर्ट: राहिल कस्सार

कांवड़ यात्रा के लिए इस बार दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे को पूरी तरह से बंद रखा जाएगा। इस पर सिर्फ डाक कांवड़ ही चलेंगी। पिछली बार एक तरफ से अन्य वाहनों के लिए खुला रखा गया था। इसका नतीजा अच्छा नहीं आया था। ट्रैफिक जाम हो गया था। डाक कांवड़ियों को भी परेशानी हुई थी। इसे देखते हुए इस बार व्यवस्था बदली गई है। इसके तहत सभी पैदल कांवड़िये मेरठ रोड से आएंगे। एक्सप्रेसवे पर 22 से भारी और 27 से हलके वाहनों का चलना बंद हो जाएगा। रूट डायवर्जन प्लान लागू होगा।

कांवड़ यात्रा की व्यवस्था में कुछ और परिवर्तन किए गए हैं। पिछली बार एक्सप्रेसवे के साथ ही डाक कांवड़ मेरठ रोड से भी आई थीं। इस बार सभी डाक कांवड़ सिर्फ एक्सप्रेसवे से आएंगी। पुलिस आयुक्त अजय कुमार मिश्र ने बताया कि इस बार दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर ट्रैफिक डायवर्जन प्लान शुरू से ही लागू कर दिया जाएगा। यह मार्ग सिर्फ डाक कांवड़ के लिए रहेगा तो इसका पूरा ट्रैफिक आसानी से मेरठ रोड पर शिफ्ट हो सकेगा
उन्होंने बताया कि पिछली बार 30 से 35 फीसदी डाक कांवड़ दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे से ही आई थीं। इससे अन्य वाहनों को परेशानी हुई। ट्रैफिक जाम हुआ था। बाकी डाक कांवड़ मेरठ रोड से आई थीं। इससे यह रूट भी पूरी तरह से अन्य वाहनों के लिए खाली नहीं रहा था।

डाक कांवड़ के लिए दो रूट के बजाय एक ही रूट होने से दोहरा फायदा होगा। डाक कांवड़ को अलग रूट मिल जाएगा। अन्य वाहनोंं के लिए मेरठ रोड रहेगा। मेरठ रोड से ही पैदल कांवड़िये आएंगे। इसी रोड पर कांवड़ियों के लिए शिविर लगाए जाते हैं।

बिजली के खंभों का भी डर नहीं
डाक कांवड़ में कांवड़िये ट्रक में डीजे लगाकर चलते हैं। ऐसे में मेरठ रोड पर बिजली के तारों, खंभों ट्रक से टकराने का खतरा है। वहीं, पैदल जाने वाले कांवड़ियों को भी परेशानी होती है।

पिलखुवा या कन्नौजा से होकर जा सकेंगे
मेरठ की ओर भारी वाहनों का आवागमन पूर्ण रूप से बंद रहेगा। वहीं मोदीनगर व आसपास के क्षेत्र में जाने वाले हल्के वाहन 27 जुलाई से मसूरी के पास से कन्नौजा होते हुए ओर्डिनेंस फैक्टरी मुरादनगर की ओर जा सकेंगे। इसके अलावा पिलखुवा से भोजपुर होकर मोदीनगर जा सकेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close