19th July 2024

एक दर्जन से अधिक मुकदमे फिर भी निकला बदमाश रेकी करने, चेकिंग के दौरान हुई मुठभेड़ में थाना प्रभारी ध्रुव भूषण दूबे ने बदमाश को ठोकासेक्टर 24 थाना प्रभारी ध्रुव भूषण दूबे के द्वारा पकड़ा गया सीमेंट से भरा चोरी हुआ ट्रैक्टर, 24 घंटे में किया चोरी की घटना का खुलासासेक्टर 24 थाना प्रभारी ध्रुव भूषण दूबे ने दिनदहाड़े 17 मुकदमे वाले बदमाश को चेकिंग के दौरान मुठभेड़ में ठोकायूट्यूब पर विज्ञापन चला कर बेरोजगार युवकों को रोजगार देने के नाम पर लाखो की ठगी करने वाला गैंग चढ़ा पुलिस के हत्थे,थाना सेक्टर 24 प्रभारी ध्रुव भूषण दूबे ने चेकिंग के दौरान बदमाश को रोका तो पुलिस पर किया फायर,जवाबी कार्यवाही में पुलिस ने ठोका
उत्तर प्रदेश

खनन माफिया मोहम्मद इकबाल कई बार समन के बाद भी ईडी के सामने पेश नहीं हुआ खनन माफिया के प्रत्यर्पण की कवायद शुरू

ईडी ने विदेश मंत्रालय से पूछा, कब निरस्त हुआ इकबाल का पासपोर्ट,

सहारनपुर की ग्लोकल यूनिवर्सिटी को जब्त करने के बाद अब ईडी ने खनन माफिया मोहम्मद इकबाल का दुबई से प्रत्यर्पण कराने की कवायद शुरू कर दी है। राजधानी स्थित ईडी के जोनल मुख्यालय की ओर से विदेश मंत्रालय को पत्र लिखकर मोहम्मद इकबाल के पासपोर्ट के निरस्त होने, विदेश यात्राओं आदि की जानकारी मांगी गयी है। सूत्रों की मानें तो विदेश मंत्रालय से इकबाल के पासपोर्ट की जानकारी मिलने के बाद उसके प्रत्यर्पण की कार्यवाही शुरू की जाएगी।

दरअसल, ईडी ने मोहम्मद इकबाल उर्फ हाजी इकबाल उर्फ बाला को कई बार नोटिस देकर तलब किया, लेकिन वह दुबई फरार होने की वजह से पेश नहीं हुआ। इस बीच अदालत में चल रही सुनवाई के दौरान उसने खुद के बीमार होने की वजह से दुबई में इलाज कराने के लिए आने का दावा किया। साथ ही, ईडी के अधिकारियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अपना बयान दर्ज कराने की पेशकश की थी। ईडी ने अपने नोटिसों की लगातार अवलेहना होने पर दो दिन पहले इकबाल की ग्लोकल यूनिवर्सिटी को जब्त कर लिया था। अब ईडी के अधिकारी उसके दुबई में इलाज के बारे में भी जानकारी जुटा रहे हैं।

 

जौहर यूनिवर्सिटी से उपकरण लेने की भी जांच
वहीं दूसरी ओर ईडी के अधिकारी पूर्व मंत्री आजम खान की जौहर यूनिवर्सिटी द्वारा ग्लोकल यूनिवर्सिटी को दान के रूप में दिए गये 7.42 करोड़ रुपये के उपकरण के मामले की जांच भी कर रहा है। दरअसल, आजम खान और उनके परिजनों द्वारा संचालित जौहर ट्रस्ट के पदाधिकारियों के ठिकानों पर आयकर विभाग के छापों में ग्लोकल यूनिवर्सिटी को उपकरण देने के सुबूत मिले थे। अधिकारियों को मानना है कि यह उपकरण दान के रूप में देना दर्शाया गया, जबकि इनकी कीमत जौहर ट्रस्ट को दी गयी थी। इस रकम को जौहर यूनिवर्सिटी के निर्माण में खर्च करने की आशंका जताई जा रही है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close