27th February 2024

उत्तर प्रदेश

यूपी: एटीएस में तैनात एएसपी पर दुष्कर्म और जबरन गर्भपात कराने का आरोप, पढ़ाई में मदद के बहाने था बुलाया

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रही छात्रा के मुताबिक फेसबुक के जरिये वर्ष 2018 में राहुल श्रीवास्तव से जान-पहचान हुई थी। इसके बाद मुलाकात हुई। दावा है कि तब वह नाबालिग थी।

लखनऊ (रिपोर्ट धर्मेंद्र शर्मा) : एटीएस में तैनात एडिशनल एसपी राहुल श्रीवास्तव पर दुष्कर्म करने व गर्भपात कराने के आरोप में गोमतीनगर विस्तार थाने में एफआईआर दर्ज की गई है। एएसपी की पत्नी, चार दोस्तों व अन्य पर धमकी देने का आरोप लगाया गया है। एफआईआर में इन सभी को आरोपी बनाया गया है। पुलिस आरोपों की जांच कर रही है।

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रही छात्रा के मुताबिक फेसबुक के जरिये वर्ष 2018 में राहुल श्रीवास्तव से जान-पहचान हुई थी। इसके बाद मुलाकात हुई। दावा है कि तब वह नाबालिग थी। राहुल ने भरोसा दिया था कि वह सिविल सर्विसेज की परीक्षा पास कराने में मदद करेंगे। इसलिए वह अक्सर स्टडी मटीरियल देने के लिए बुलाते थे। छात्रा का आरोप है कि वर्ष 2019 में राहुल ने स्टडी मटीरियल व रिसर्च वर्क कराने के बहाने एक होटल में बुलाया। यहां पर उसको नशीला पदार्थ पिला दिया। बेहोशी की हालत में दुष्कर्म कर अश्लील फोटो क्लिक कर लिए। फोटो के नाम पर ब्लैकमेल कर कई बार शारीरिक संबंध बनाए। पिछले साल अप्रैल में जब वह गर्भवती हुई तो राहुल ने एक अस्पताल में ले जाकर गर्भपात करवा दिया।

पत्नी व दोस्तों पर धमकाने का आरोप।

छात्रा का आरोप है कि जब मामले की जानकारी राहुल की पत्नी मनिनि श्रीवास्तव (जो लखनऊ विवि में शिक्षिका हैं) को हुई तो वह और राहुल के दोस्त सौरभ, सतीश, विक्रम, सिद्धार्थ व अन्य ने मिलकर उस पर शिकायत वापस लेने का दबाव बनाया। यही नहीं धमकाया कि अगर शिकायत की तो जान से मार देंगे। परिवार को झूठे केस में फंसा देंगे।

ट्वीट के बाद सक्रिय हुए अफसर
छात्रा ने कई महीने पहले शिकायत की थी। वीमेन पावर लाइन में तैनात एसपी रवीना त्यागी प्रकरण की जांच कर रही थीं। कुछ दिन पहले छात्रा के बयान के कई वीडियो वायरल हुए। इसमें उसने आरोप लगाया गया था कि मामले में कार्रवाई नहीं हो रही। इसके बाद शुक्रवार को छात्रा ने एक्स पर पोस्ट किया। इसमें लिखा कि मामले में कार्रवाई नहीं हो रही है। अगर अब मुझे कुछ होता है तो पुलिस जिम्मेदार होगी। इस उच्चाधिकारी तत्काल सक्रिय हुए और शुक्रवार रात सवा बारह बजे केस दर्ज किया गया।

भरोसा है, सच सामने आएगा
शिकायकर्ता ने मेरे खिलाफ लखनऊ विवि में अक्तूबर में एक फर्जी शिकायत की थी। इसमें खुद उन्होंने मेरे पति से किसी भी तरह के संबंध होने से नकारा था। पिछले कई महीने से मुझे और मेरी बेटियों पर एसिड अटैक करवाने व जान से मरवाने की धमकी दी जा रही है। मेरे परिवार को ब्लैकमेल किया जा रहा है। इसकी शिकायत नवंबर में पुलिस कमिश्नर से की थी। इसकी जांच वीमेन पावर लाइन ने की, जिसमें पूरे साक्ष्य दिए गए हैं। भरोसा है कि सच सामने आएगा।-मानिनी श्रीवास्तव (एएसपी राहुल श्रीवास्तव की पत्नी)

साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं
तहरीर के आधार पर एफआईआर दर्ज की गई है। साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं। गुण दोष के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।- आशीष श्रीवास्तव, डीसीपी पूर्वी

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close