31st May 2024

हरियाणा

करोड़ों की संपत्ति लूट ले गए उपद्रवी, 16 एफआईआर में एक हजार से अधिक के नाम; पांच की मौत

ब्यूरो रिपोर्ट

हिंसा के मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए एक हजार से अधिक लोगों के खिलाफ 16 एफआईआर दर्ज की हैं। सोमवार को हुई इस सांप्रदायिक हिंसा में अब तक जहां 60 लोग घायल हुए हैं, वहीं पांच लोगों की मौत की पुष्टि प्रशासन ने की है। मरने वालों में दो होमगार्ड व तीन आम आदमी शामिल हैं। दूसरी ओर सोमवार रात को लगाया गया कर्फ्यू मंगलवार को भी जारी रहा। सोमवार आधी रात के बाद पुलिस ने कई जगह दबिश देकर करीब 30 आरोपियों को हिरासत में लिया है।

इस हिंसात्मक घटना में 100 से अधिक छोटे बड़े वाहन, कई दुकानें, एक ऑयल मील को जला दिया गया। इसके अलावा दंगाई हिंसा के बहाने करोड़ों रुपये की लूट कर चुके हैं। करीब पौने दो सौ हीरो की नई बाइक और नगीना में ऑयल मिल से ऑयल के अलावा कई जगह लाखों की लूटपाट की गई है। आरोपियों की धरपकड़ व शांति के लिए अर्धसैनिक बलों की 20 कंपनियां व पुलिस बल की 20 कंपनियां की गई तैनात की गई हैं।

एसपी नरेंद्र सिंह ने चार्ज संभालते ही आरोपियों की धरपकड़ शुरू कर दी। बताया जा रहा है कि करीब 30 आरोपियों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। उनसे पूछताछ की जा रही है। हालांकि अधिकारिक स्तर पर इसकी अभी पुष्टि नहीं की गई है। मंगलवार सुबह पुलिस ने इलाके में फ्लैग मार्च निकाला।

नूंह के प्रभारी एसपी नरेंद्र सिंह बिजारणिया ने बताया कि लोगों में सुरक्षा की भावना जागृत करने के उद्देश्य से सुबह-शाम नूंह के विभिन्न इलाकों में फ्लैग मार्च किया जा रहा है। सिविल पुलिस के साथ ही अर्धसैनिक बलों के जवानों को भी मुस्तैद किया गया है। धारा-144 की पालना सुनिश्चित की जा रही है। दंगाइयों को देखते ही गोली मारने के आदेश दिए गए हैं।
अफवाह पर न दें ध्यान, तत्काल दें सूचना
नूंह के प्रभारी एसपी नरेंद्र सिंह बिजारणिया ने आम जन से अपील करते हुए कहा कि वे अफवाहों पर ध्यान न दें। यदि कही भी किसी प्रकार की अप्रिय घटना हो जाती है तो जिला प्रशासन को तुरंत इसकी सूचना दें। लोग इसकी सूचना हेल्पलाइन नंबर-112 8930900281 पर दे सकते हैं।

शांति समिति की बैठक में अपील
डीसी ने अपने कैंप कार्यालय में शांति बैठक में उपस्थित लोगों से अपील करते हुए कहा कि वे स्थिति और व्यवस्था को और बेहतर करने में जिला प्रशासन का सहयोग करें। उन्होंने बैठक में उपस्थित कमेटी के सदस्यों से व्यवस्था को बनाए रखे। इस बैठक में उन्होंने कमेटी के सदस्यों से अपील करते हुए कहा कि लोगों को कानूनी प्रक्रिया में सहयोग करने के लिए प्रेरित कर जिला प्रशासन द्वारा जारी आदेशों की पालना करवाने में सहयोग करें।

उन्होंने कहा कि दोषियों की पहचान की जा रही है, उपद्रवियों को किसी हाल में बख्शा नही जाएगा। बैठक में विधायक आफताब अहमद, वक्फ बोर्ड के प्रशासक जाकिर हुसैन, पूर्व विधायक पुन्हाना रहीशा खान, जिला प्रमुख जान मोहम्मद, तैयब हुसैन घासेड़िया, पूर्व डिप्टी स्पीकर आजाद मोहम्मद, जुबेर अलवी, रमजान चौधरी एडवोकेट सहित अन्य व्यक्ति मौजूद थे। इसमें दूसरे समुदाय से नाराज लोग नहीं पहुंचे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close