27th February 2024

उत्तर प्रदेशदेश

उत्तर भारत में शीतलहर का कहर, पहाड़ से लेकर मैदान तक पारा गिरा, अगले दो दिनों तक राहत की उम्मीद नहीं

आईएमडी ने पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और राजस्थान में अगले दो दिन कड़ाके की ठंड की संभावना जताई है। इस दौरान उत्तर पश्चिम भारत में घना कोहरा भी छाया रहेगा।

उत्तर भारत में शीतलहर का कहर जारी है। जम्मू-कश्मीर, पश्चिमी राजस्थान, हरियाणा, चंडीगढ़, पूर्वी उत्तर प्रदेश, पंजाब, पूर्वी मध्य प्रदेश, उत्तराखंड और पूर्वोत्तर के त्रिपुरा तक में कहीं घना तो कहीं अत्यधिक घना कोहरा देखा गया। इसका असर सड़क, हवाई और रेल यातायात पर पड़ा। घने कोहरे के कारण पंजाब में सड़क दुर्घटना में तीन लोगों की जान चली गई। मेरठ समेत विभिन्न शहरों में गलन वाली ठंड से बचने के लिए लोग अलावा का सहारा लेते देखे गए। पहाड़ से लेकर मैदानी क्षेत्रों तक में पारा और लुढ़का और दिल्ली में 8.9 तो श्रीनगर में माइनस 5.4 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और राजस्थान में अगले दो दिन कड़ाके की ठंड की संभावना जताई है। इस दौरान उत्तर पश्चिम भारत में घना कोहरा भी छाया रहेगा। ताजा पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव भी पड़ने वाला है और इसके चलते 8 से 10 जनवरी तक उत्तर पश्चिम और मध्य भारत के क्षेत्रों में गरज के साथ कहीं तेज तो कहीं हल्की बारिश होने की संभावना है। इसके अलावा अगले पांच दिनों तक तमिलनाडु और अगले दो दिनों तक केरल में कुछ स्थानों पर भारी बारिश के साथ दक्षिणी प्रायद्वीपीय क्षेत्रों में हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है।

दिल्ली-एनसीआर में चल रही ठंडी हवाओं से ठिठुरन बढ़ी हुई है। शनिवार को भी धूप नहीं निकली। दिन भर बादल छाए रहे। हालांकि हवाओं के रुख में आए बदलाव के कारण तापमान में मामूली बढ़त दर्ज की गई। आने वाले दिनों में भी तापमान में बढ़ोतरी के आसार हैं। प्रादेशिक मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक, शनिवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान 15.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से चार डिग्री कम है। वहीं न्यूनतम तापमान 8.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से दो डिग्री अधिक है। शनिवार को दिल्ली के अधिकतर इलाकों में सीवियर कोल्ड डे जैसी स्थिति रही। सुबह से ही मौसम सर्द रहा। दोपहर में भी धूप नहीं निकलने के कारण लोगों को कंपकंपी महसूस हुई। वहीं शाम ढलते ही ठंड भी बढ़ गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close