27th February 2024

उत्तर प्रदेश

पेशाब कांड: मुंह में पिस्टल डाली, मारपीट कर छात्र को किया अधमरा, पिता बोले-इंसाफ न मिला तो करेंगे आत्मदाह

मेरठ ब्यूरो:अबशर उल हक

मेरठ के मेडिकल थाना क्षेत्र में दोस्तों ने शराब पीने के बाद छात्र के बाल पकड़कर जमकर पिटाई की। जान से मारने की धमकी देते हुए पिस्टल मुंह में डाल दी। गले में बेल्ट डालकर सुनसान जगह ले गए। मुंह पर पेशाब किया।

मेडिकल पुलिस ने रविवार को एक आरोपी आशीष मलिक को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी को मजिस्ट्रेट की कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे जमानत मिल गई। वहीं पीड़ित छात्र के पिता का कहना है कि यदि उन्हें इंसाफ नहीं मिलता तो वह आत्मदाह करेंगे।

गंगानगर थाना क्षेत्र के रहने वाले युवक ने पिछले वर्ष 12वीं की थी। वह प्रतियोगिता परीक्षा की तैयार कर रहा है। छात्र के पिता के मुताबिक 13 नवंबर की रात उनका बेटा मेडिकल के जागृति विहार में मौसी के घर गया था। वहां उसका दोस्त राजन मिल गया। वह उसे साथ ले गया।

इसके बाद आशीष मलिक निवासी अजंता कॉलोनी, मोहित ठाकुर निवासी सोमदत्त विहार, अवि शर्मा निवासी जेल चुंगी और तीन अज्ञात ने उनके बेटे के साथ मारपीट शुरू कर दी। वे सभी शराब के नशे में थे।

उन्होंने छात्र को लाठी-डंडों से बेरहमी से पीटा। उसके गले में बेल्ट डालकर मारा। मुंह में पिस्टल ठूंस दी। वे उसे जागृति विहार में सुनसान इलाके में ले गए। जान से मारने की धमकी दी। उसके मुंह पर पेशाब कर दिया। पूरी घटना का वीडियो बना लिया।

उसे अधमरी हालत में छोड़कर चले गए। 14 नवंबर की सुबह नौ बजे बदहवास बेटा घर पहुंचा तो उसने मारपीट की जानकारी दी। जिसके बाद उन्होंने मेडिकल थाने में तहरीर दी जिस पर पुलिस ने 16 नवंबर को आरोपियों के खिलाफ बलवा, गाली-गलौज, जान से मारने की धमकी और मारपीट की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर ली।

वीडियो वायरल हुई तो चला घृणित घटना का पता
छात्र के पिता ने बताया कि बेटे ने 14 नवंबर को पेशाब करने के बारे में नहीं बताया था। 19 नवंबर को उन्हें वीडियो के बारे में पता चला तो पेशाब किए जाने की जानकारी हुई। उन्होंने मेडिकल थाने में जानकारी दी।

पुलिस ने मुकदमे में आईपीसी की धारा 294 बढ़ा दी। एसपी सिटी पीयूष कुमार सिंह ने बताया कि मुख्य आरोपी आशीष मलिक को रविवार को गिरफ्तार कर लिया गया। दूसरे फरार आरोपी अवि शर्मा, राजन, मोहित ठाकुर और अन्य युवकों की तलाश में पुलिस दबिश दे रही है। जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

पिता बोले-इंसाफ नहीं मिला तो करेंगे आत्मदाह
छात्र के पिता का कहना है कि पुलिस को इस मामले में अपहरण की धारा भी लगानी चाहिए। इसको लेकर वे एसएसपी से मिलेंगे। अगर आरोपी जेल नहीं गए तो वे आत्मदाह करने के लिए मजबूर होंगे।

सारे साक्ष्यों के साथ किया कोर्ट में पेश
मेडिकल थाना प्रभारी सूर्य दीप सिंह का कहना है कि आरोपी आशीष मलिक के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 323, 504, 506 और 294 के अंतर्गत कार्रवाई की गई। वीडियो और फोटोग्राफ भी साक्ष्य के रूप में दिए गए। रविवार दोपहर उसे कोर्ट में पेश कर दिया गया। थाना प्रभारी का कहना है कि पेशाब वाली बात परिजनों ने शनिवार को बताई तो इसके बाद मुकदमे में धारा बढ़ा दी गई। बाकी आरोपियों की गिरफ्तारी को भी दबिश दी जा रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close