31st May 2024

उत्तर प्रदेश

जेल में बंद मुख्तार अंसारी की ढ़ीली नहीं पड़ी अकड़, पेशी के दौरान गवाह को धमकाया, जेलर निलंबित

माफिया मुख्तार अंसारी पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान गवाह को धमकाने का मुकदमा दर्ज किया गया है। आजमगढ़ पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। दरअसल, आजमगढ़ में पेशी के दौरान बांदा जेल से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जुड़े मुख्तार ने गवाही देने वाले की फोटो भेजने की बात कही थी, जिसके बाद उसके खिलाफ कानूनी शिकंजा कसा गया है।

बीती 3 जुलाई को आजमगढ़ की अदालत में गवाह विश्वजीत सिंह उर्फ राहुल सिंह का परीक्षण चल रहा था। इस दौरान वीडियो कांफ्रेंसिंग से बांदा जेल से जुड़े आरोपी मुख्तार अंसारी ने अपने वकील से पूछा कि आज किसका बयान हो रहा है। इस पर उसके वकील ने दोपहर करीब एक बजे बताया कि प्रत्यक्षदर्शी गवाह विश्वजीत सिंह उर्फ राहुल सिंह की जिरह हो रही है। यह सुनकर मुख्तार ने अपने वकील से कहा कि ठीक है, इनकी जिरह कीजिए और इनका फोटो हमें भेज दीजिए। जब अभियोजन पक्ष ने इस पर एतराज किया तो मुख्तार के वकील ने स्पष्टीकरण दिया कि हमारे मुवक्किल ने गवाह की फोटो नहीं, बल्कि उसके साक्ष्य की फोटो भेजने की बात कही थी। इस संबंध में विशेष अधिवक्ता राधेश्याम मालवीय से एसपी आजमगढ़ से शिकायत की, जिसके बाद मुख्तार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया। अधिवक्ता राधेश्याम ने गवाह विश्वजीत को सुरक्षा देने की मांग भी की है।

इस संबंध में विशेष अधिवक्ता राधेश्याम मालवीय से एसपी आजमगढ़ से शिकायत की, जिसके बाद मुख्तार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया। अधिवक्ता राधेश्याम ने गवाह विश्वजीत को सुरक्षा देने की मांग भी की है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close