31st May 2024

उत्तर प्रदेश

कुणाल हत्याकांड: पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का खुलासा, पुलिस की नाकामी से अगवा किशोर का कत्ल, परिवार को पीटा

ग्रेटर नोएडा से ढाबा संचालक के अगवा बेटे कुणाल (15) का शव रविवार को बुलंदशहर के गांव ज्वारखेड़ा के पास गंगनहर से मिला। परिजनों और ग्रामीणों ने किशोर की हत्या का दोषी पुलिस को ठहराया है।

ग्रेटर नोएडा में ढाबा संचालक के अगवा बेटे को ढूंढ निकालने में पुलिस नाकाम साबित हुई। पांच दिन तक परिजन और ग्रामीण प्रदर्शन कर जांच करने की मांग करते रहे। वहीं पुलिस इसे अपहरण का मामला मानने से इन्कार करती रही। बाद में पुलिस ने अगवा करने की बात मानी हालांकि इसके बाद परिजनों से पूछताछ और मारपीट की गई।

ढाबा संचालक कृष्ण कुमार शर्मा का आरोप है कि बीटा- 2 पुलिस की लापरवाही से बेटे कुणाल की जान गई। वह शुरू से ही अनहोनी की आशंका जताते रहे थे। लेकिन पुलिस ने उनकी नहीं सुनी। समय रहते पुलिस कार्रवाई करती तो बेटे की जान बच सकती थी। उन्होंने कहा कि हत्या का दोष पुलिस पर है। वह पुलिस को कभी माफ नहीं करेंगे।

इससे पहले, रविवार सुबह बुलंदशहर में अपहृत किशोर का शव मिलने की जानकारी मिलते ही ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा। आनन-फानन परिजन और ग्रामीण बुलंदशहर पहुंच गए। जहां अधिकारियों को जमकर खरी खोटी सुनाई। उन्होंने पुलिस की नाकामी पर सवाल उठाए।

शव मिलने के बाद ग्रामीण बीटा-दो कोतवाली पर प्रदर्शन करने के लिए निकल पड़े। रविवार शाम 5 बजे कुणाल का शव रबूपुरा स्थित म्याना गांव लाया गया। आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे परिजन और ग्रामीणों ने अंतिम संस्कार करने से इन्कार कर दिया। कुणाल का शव म्याना गांव लाए जाने से पहले बड़ी संख्या में ग्रामीण और रिश्तेदार पहुंच गए थे।

 

हंगामे की आशंका देख मौके पर बड़ी तादाद में पुलिस बल तैनात कर दिया गया। परिजनों का कहना है कि पहले ढाबा संचालक कृष्ण कुमार की पत्नी की हत्या हो हुई थी अब बेटे की हत्या की गई है। उन्होंने परिवार के अन्य लोगों की जान पर खतरा होने की बात कहकर सुरक्षा देने की मांग की।

जिसे पुलिस ने मान लिया। अपर पुलिस आयुक्त शिवहरि मीणा ने आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया। साथ ही पीड़ित परिवार को सुरक्षा देने की बात कही। जिसके बाद कड़ी सुरक्षा के बीच अंतिम संस्कार किया गया।

सिर पर भारी वस्तु के प्रहार से मौत 
पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सिर पर भारी वस्तु के प्रहार से मौत होने की बात सामने आई है। कुणाल के सिर पर लाठी या अन्य किसी ठोस वस्तु से प्रहार किया गया। इसके चलते ब्रेन में चोट पहुंची। चोट बाहरी तरफ न खुलकर अंदर ही ब्लीडिंग होती रही। हत्या के बाद शव नहर में फेंक दिया गया। जांच के लिए विसरा प्रिजर्व कर फोरेंसिक लैब भेजा गया है।

मामले में तत्काल एफआईआर दर्ज कर बच्चे की तलाश शुरू कर दी गई थी। बच्चा महिला के साथ गया था। कुछ लोगों से पूछताछ में महत्वपूर्ण तथ्य मिले हैं। सीसीटीवी फुटेज और सर्विलांस के साथ अन्य टीम भी जांच कर रही है। जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर घटना का खुलासा किया जाएगा। – शिवहरि मीणा, अपर पुलिस आयुक्त कानून एवं व्यवस्था, गौतमबुद्धनगर।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close